Self-reliant India employment scheme

If the company employs an employee with a salary of less than Rs 15,000, then it has to give the job to this employee for at least 24 months. Like this scheme, the government opens more employment options for the employee.
The self-reliant India Employment Scheme has been started to compensate for the loss of employment during the corona transition. Under this scheme, the employee’s provident fund will be contributed by the government for 2 years on the new appointment.
This contribution will be 12%–12% of the salary. Employers will be encouraged to create employment through this scheme.

कंपनी अगर 15,000 रुपये से कम सैलरी वाले कर्मचारी को नौकरी देती है तो उसे इस कर्मचारी को कम से कम 24 महीने तक नौकरी देनी होती | इस योजना के तरह सरकार कर्मचारी के लिए ज्यादा रोजगार के ऑप्शन खोलती है |
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को कोरोना संक्रमण के दौरान हुई रोजगार के नुकसान की भरपाई करने के लिए आरंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत नई नियुक्ति पर 2 साल तक सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि का योगदान किया जाएगा।
यह योगदान वेतन का 12%–12% होगा। इस योजना के माध्यम से नियोक्ता रोजगार सृजित करने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

Leave a Comment